स्त्रियों के लग्न फल राशियों के चरित्र

सूर्य उदय काल सिंह मेषादि राशियों पर अवस्थित रहते हैं वह दिन में क्रमशः छः राशियों को पार कर रात्रि में से  छः राशियों को पार करते हैं।
धनु  लग्न में उत्पन्न हुई कन्या सौभाग्यवती तथा

मेष लग्न में कन्या का जन्म होने पर वह बन्ध्या होती है
वृष लग्न में उत्पन्न हुई कन्या कामिनी होती है
मिथुन लग्न वाली सौभाग्यशालिनी तथा
कर्क लग्न में उत्पन्न हुई कन्या वेश्या होती है
सिंह लग्न में जन्म प्राप्त कन्या अल्प पुत्रों वाली होती है
कन्या लग्न वाली रुप से संपन्न तुला लग्न वाली रूप और एश्वर्य से संपन्न युक्त
वृश्चिक लग्न वाली कर्कश स्वभाव की होती है
धनु  लग्न में उत्पन्न हुई कन्या सौभाग्यवती तथा
मकर लग्न वाली निम्न पुरुके साथ गमन करने वाली होती है
कुंभ लग्न में जन्म प्राप्त कन्या अल्प पुत्रों तथा मीन लग्न वाली वैराग्य युक्त होती है
स्त्रियों के लग्न फल राशियों के चरित्र